September 22, 2020
Simple Psychological Tricks That Actually Work

Simple Psychological Tricks That Actually Work

17 सरल मनोवैज्ञानिक ट्रिक्स जो वास्तव में काम करते हैं। 17 Simple Psychological Tricks That Actually Work

17 Simple Psychological Tricks That Actually Work

हमारे आस पास बहुत सारे ऐसे मनोवैज्ञानिक ट्रिक्स होते है जिनके बारे में लाखों किताबें एवं आर्टिकल लिखे गए है। इनमे से कुछ ट्रिक्स कुछ प्रोफेशनल लोग इस्तेमाल करते है और दूसरों के द्वारा किये गए छल का शिकार होने से बचते है। लेकिन कुछ ऐसे भी मनोवैज्ञानिक ट्रिक्स (Psychological Tricks) जिनको कोई भी इंसान दैनिक आधार पर इस्तेमाल कर सकता है।

यहां पर हम कुछ ऐसे मनोवैज्ञानिक ट्रिक्स (Psychological Tricks) के बारे में जानेंगे जिनको कोई भी इंसान इस्तेमाल कर सकता है :

17 सरल मनोवैज्ञानिक ट्रिक्स जो वास्तव में काम करते हैं। 17 Simple Psychological Tricks That Actually Work

17 Simple Psychological Tricks That Actually Work

#1. खुद पे भरोसा रखें (Be confident )

17 Simple Psychological Tricks That Actually Work

यह करना बहुत आसान हो सकता है , लेकिन यह करने के लिए बहुत प्रैक्टिस की जरूरत होती है। ऐसा माना जाता है की ‘पहला इम्प्रेशन ही लास्ट इम्प्रेशन होता है’| लोगों को भरोसेमंद लोग ज्यादा पसंद आते है क्योंकि ऐसे ज्यादा विश्वसनीय और आकर्षक होते है।

# 2. किसी व्यक्ति को उसके नाम लेकर बुलाएँ (Use a person name right away )

मान लीजिये मै अवि किसी से मिला और थोड़े ही देर में उसका नाम भूल गया और मुझसे उसको बुलाना पड़ गया तब मै उसे कैसे बुलाऊंगा ,और अगर मै उसको नाम से नहीं बुलाऊंगा तो कैसा लगेगा ? इसलिए एक्सपर्ट्स सलाह देतें है की, अगर आप किसी से मिलते है और उसका नाम जानने के बाद उसको एक दो बार उसके नाम से जरूर बुलाएँ ऐसा करने से उसका नाम आपको याद हो जायगा। आप अगर किसी को उसके नाम से बुलाते है तो उसको ज्यादा अच्छा लगेगा और वो इंसान आपको पसंद करेगा।

# 3. ऐसा दिखाइए की आप सहज महसूस कर रहे है ( Pretend you feel comfortable)

क्या आप नए लोगों से मिलना या फिर भीड़ के सामने बोलना पसंद नहीं करते है ? अगर ऐसा है तो आप ऐसा दिखाने की कोशिस कीजिये की आप बिलकुल सहज है। आप अपने दिमाग को समझा कर कुछ देर एक्टिंग कर सकते है और दिखा सकते है की आप बिलकुल सहज है। ऐसा करते करते आपको इन चीजों की आदत पड़ जाती है और आप नार्मल व्यवहार करने लगते है। अगर आपको नए लोगों से मिलने में घबराहट होती है तब ऐसा सोचिये की आप पहले से ही उनको जानते है। इससे आपका काम आसान हो जायेगा और लोग आपको पसंद भी करेंगे।

#4. लोगों के पैर नोटिस करें (Notice people’s feet)

अगर आप लोगों की समूह की तरफ बढ़ रहे है , तो ध्यान दें की क्या वे समूह में शामिल होने के पश्चात् अपने पैरों को आपकी तरफ मोड़ते हैं। अगर वे ऐसा करते है तब आप समझ जाइये की आपका स्वागत है। अगर वे लोग सिर्फ अपना शरीर मोड़ते हैं या फिर बस अपना सर मोड़ते हैं और आपसे बात करते है तब ये समझिये की कहीं न कहीं वो आपका स्वागत नहीं कर रहे और आपने गलत समय पाय उनसे बात की।

#5. अगर आप घबराए हुए हैं तो च्यूइंगम चबाएं (Chew gum if you’re nervous)

हमारा दिमाग बहुत ही अजीब तरह से काम करता है जब हम कुछ खा रहे होतें है तब दिमाग को लगता है की हम बिल्कुल सुरक्षित है। कोई भी जानवर आराम से भोजन नहीं कर सकता अगर उसको पता है की शेर उसके पीछे दौड़ रहा है। आप किसी इंटरव्यू या ऑडिशन के दौरान च्यूइंगम न चबाएं लेकिन उसका इंतजार करते वक्त चबा सकते है यह आपका घबराहट कम करने में मदद करेगा।

#6. सोमवार और शुक्रवार के लिए कोई भी अपॉइंटमेंट्स कैंसिल करें(Cancel any appointments for Mondays and Fridays)

अगर आपका कोई जॉब इंटरव्यू है ,तो कोशिस करें की आपका इंटरव्यू मगलवार ,बुधवार या फिर वृहस्पतिवार को फिक्स हो। सोमवार को सभी लोग थोड़ा अच्छा महसूस नहीं करते क्योंकि वो सोमवार है। शुक्रवार को सबके दिमाग में रहता है की वीकेंड है। इसलिए सप्ताह के बीच में जाइये तब आप सबके फेवरिट है।

#7. अपने हाथों के बारे में सोचें (Think about your hands )

Source : Google

ये बात शायद आपको कुछ अटपटी लग रही होगी ,लेकिन जब आप किसी से बातचीत कर रहे होते है तब आपका हाथ कहाँ रहता है। आप यहां दो काम कर सकते है : अपनी उँगलियाँ चुभाना (जो आत्मविश्वास बढ़ाता है) या फिर अपनी हथेलियों को दिखाना (जो दर्शाता है की आप वास्तविक है)

#8. सबकी प्रशंशा करें (Compliment everyone)

जी हाँ बिलकुल लोगों को कपम्प्लिमेंट्स बहुत पसंद होता है ,इसलिए अगर आपको किसी में कुछ अच्छा लगे तो उसकी प्रशंशा उसके सामने तुरंत करें इससे आपको कही न कहीं फायदा हो सकता है। शोधकर्ता इस बात की तरफ संकेत करते हैं की किसी और की प्रशंशा करना भी आपको कॉंफिडेंट बनाता है। जबकि किसी का बुराई करके आप कॉंफिडेंट नहीं हो सकतेहैं।

#9. पिता की सलाह (Father’s advice )

यदि आप किसी व्यक्ति को या व्यक्तियों के समूह को कुछ बता रहें है और आप चाहते है की वो लोग आपके बात पर संदेह न करें तो अपनी बात के साथ यह भी जोड़ दीजिये की यह सलाह आपके पिता जी ने दी थी।

क्योंकि अक्सर ऐसा देखा गया है की लोग पहली बार में ही पिता के सलाह वाली बात पर विश्वास कर लेते हैं।

#10. एक अच्छा श्रोता (A good listener )

आपसे जब भी कोई बात कर रहा हो तब उसी के बात में से कुछ सवाल उससे पूछिए , ऐसा करने से उस व्यक्ति को लगेगा की आप उसकी बातों को बहुत ध्यान से सुन रहे है।

ये टिप्स जब जरूरत हो तभी इस्तेमाल करें क्योंकि हर जगह इसको इस्तेमाल करना अच्छा नहीं होता है।

#11. आँखों का रंग (Eye Color)

हम सभी जानते है की जब हम किसी से बात कर रहे होते है तब उस समय कुछ सेकेंड्स के लिए उससे नजर जरूर मिलाते है और अपना प्रभाव डालने की कोशिस करते है। फिर भी , बहुत सारे लोगों के लिए नजर मिलाकर बात करना बहुत मुश्किल होता है। यह तथ्य है की ज्यादातर लोग नजर मिलाकर बात करने में बहुत असहज महसूस करते है लेकिन सुनते वक्त ऐसा नहीं होता।

इसलिए, जब भी आप किसी से बात कर रहे होते है तब आप सामने वाले के आँखों के रंग को देखें। ऐसा करने से आप उससे ज्यादा समय तक नजर मिलाकर बात कर पाएंगे।

#12 . गरम हाथ (Warm Hands)

जब भी आप पहली बार किसी से हाथ मिलाते है , तो कोशिस कीजिये की आपका हाथ गरम हो। हाथ गरम होने का मतलब होता है की एक एनर्जेटिक एप्रोच के साथ परिचय देना।

यह आपको दूसरे व्यक्ति से कहीं अधिक प्रभावशाली और आकर्षक बनाता है, चाहे वे कोई भी हों। ठंढे हाथ से हाथ मिलाना बासी एवं उबाऊ परिचय का प्रतीक होता है।

#13 . पढ़ाने के दौरान सीखना (Learning While Teaching)

बहुत सारे लोगों को इसका एहसास भी नहीं होता है , लेकिन लोग सबसे अच्छे से तभी सीखते है जब वो दूसरों को पढ़ा रहे होते है। इसका मतलब अगर आप अपनी सिखने की प्रक्रिया को और आगे बढ़ाना चाहते है तो उस चीज के बारे में किसी को पढ़ाना शुरू कर दीजिये।

किसी चीज को सीखने के 3 स्टेप होते है :

  • शोध करना और सीखना
  • अभ्यास करना
  • फिर दूसरों को सिखाना

आप इस प्रोसेस के बारे में सोचिये , ये बहुत मायने रखता है। किसी और को पढ़ाने के लिए आपके पास पहले से ही उस विषय के बारे में सारी जानकारी होनी चाहिए। आपको जानकारी इकठ्ठा करके उसको ऑर्गेनाइज करना होगा फिर ऐसे तरीके से समझाना होगा जिससे की सामने वाले को अच्छे से समझ आये।

#14 . यादगार बने रहना (Being Memorable )

ये एक छोटी सी मनोवैज्ञानिक ट्रिक बहुत यूज़फुल हो सकती है अगर ,आप चाहते है की आप सामने वाले के दिमाग में रहे आप अपनी अच्छी यादें उसको देना चाहते है या फिर वो समय याद रहे की कब आप उनसे मिले थे।

ऐसा माना जाता है की लोग शुरुआत और अन्त बहुत अच्छे से याद रखते है। जबकि बीच की चीजें कुछ धुंधली रहतीं है।

इसका क्या मतलब होता है :

अगर आप किसी इंटरव्यू के लिए कोई टाइम फिक्स चाहते है तो कोशिस कीजिये की आप सबसे पहले या फिर सबसे अंतिम में जाएँ।

अगर किसी डेट पर जा रहे है तो कोशिस कीजिये की शाम में जाएँ, और डेट के शुरू या अंत में कुछ ऐसा कीजिये जिससे आपके साथ वाले पर आपका प्रभाव अच्छा पड़े।

#15 किसी को असहज महसूस करवाना (Make someone feel uncomfortable)

अगर आप किसीको बातचीत के दौरान असहज महसूस करवाना चाहते है तो आप उससे बातचीत के दौरान बार बार उसके माथे पर देखिये सामने वाला व्यक्ति जरूर थोड़ा असहज महसूस करेगा।

#16. रोमांच के लिए जाएं (Go for the thrills)

यदि आप चाहते हैं कि आपकी पहली डेट यादगार हो और सफल हो, तो वास्तव में डेट वाले दिन कुछ रोमांचक जोड़ने की कोशिश करें। उत्साह, आश्चर्य और यहां तक कि भय से मुक्त होने वाले हार्मोन एक बंधन बनाने में मदद करते हैं

#17. नहीं कहना सीखिए (Just say no)

यदि कोई आपसे कुछ करने के लिए कहता है और आप वो काम नहीं करना चाहते (या नहीं कर सकते), तो बस कहिये “नहीं,” या “क्षमा करें, मैं नहीं कर सकता।” ये कहने से कोई और स्पष्टीकरण देने की की जरूरत नहीं पड़ती है। यह लोगों को थोड़ा अटपटा लग सकता है ,क्योंकि ज्यादातर लोग आमतौर पर इस बात का बहाना देने की कोशिश करते हैं कि वे कुछ क्यों नहीं कर सकते। लेकिन ज्यादातर मामलों में, आप किसी को भी स्पष्टीकरण नहीं देते हैं, और “नहीं” एक पूर्ण वाक्य है।

धन्यवाद !