October 27, 2020
Laptop Buying Guide

Laptop Buying Guide

लैपटॉप खरीदने से पहले इन बातों का रखें ध्यान (Keep these things in mind before buying a laptop.)

Laptop Buying Guide in hindi

लैपटॉप खरीदना तो बहुत आसान है लेकिन जब आपको अपने जरुरत के अनुसार लैपटॉप खरीदना हो तब कौन सा लैपटॉप लेना चाहिए ये निर्णय लेना कठिन होता है। लैपटॉप खरीदने से पहले बहुत सारी चीजों का ध्यान देना पड़ता है , और ये पोस्ट आपके हिसाब से आपके लिए लैपटॉप खरीदने में मदद करेगा।

Laptop Buying Guide in hindi

सबसे पहले आपको खुद से ये सवाल पूछना चाहिए की आपको लैपटॉप क्यों चाहिए, आपकी जरुरत क्या है और आगे भविष्य में और किन किन काम के लिए आप उसको इस्तेमाल कर सकते हो ?

आपको अपनी जरुरत से ज्यादा फीचर्स वाला लैपटॉप ही लेना चाहिए ताकि आप आगे भविष्य में कुछ और नई चीजें सिख सकें। लैपटॉप खरीदते समय अपने बजट से कुछ ज्यादा का ही लैपटॉप खरीदना चाहिए क्योंकि लैपटॉप ऐसा चीज है जो एक बार लेने के बाद शायद वो एक दशक तक भी आपके पास रहेगा।

लैपटॉप खरीदने से पहले इन बातों का रखें ध्यान (Keep these things in mind before buying a laptop.)

#1. सबसे पहले ऑपरेटिंग सिस्टम (Operation System -OS ) से शुरू करतें है।

Laptop Buying Guide in hindi

ये समझना बेहद जरुरी है की ऑपरेटिंग प्लेटफार्म लैपटॉप के लिए बहुत अहम रोल अदा करता है इसलिए जितने भी मुख्य ऑपरेटिंग सिस्टम है हम सबके बारे में जानेंगे।

नॉर्मली जरूरत के हिसाब से या खुद के पर्सनल यूज़ के लिए मुख्यतः तीन प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम है।

  1. Windows OS
  2. MacOS
  3.  Chrome OS

1. Windows OS (विंडोज़ ऑपरेटिंग सिस्टम )

Windows OS कंप्यूटर और लैपटॉप में सबसे ज्यादा यूज़ होने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है। ऐसा है क्योंकि Windows OS बहुत ही यूजर फ्रेंडली होता है और इसको ऑपरेट करना बेहद आसान होता है। और ज्यादातर कंप्यूटर और लैपटॉप में ये पहले से इंस्टाल रहता है।

Windows OS ज्यादातर फीचर्स को कवर करता है इसलिए अगर आप एक स्टूडेंट है तो Windows OS के साथ आपकी सारी जरूरतें कवर हो जातीं हैं और अगर आप एक प्रोफेशनल हो तब भी आप Windows OS वाला लैपटॉप ले सकते है। ज्यादातर लैपटॉप कम्पनियाँ Windows OS पहले से ही इंस्टॉल करके देतीं है जिसमे टच इंटरफ़ेस , फिंगरप्रिंट सेंसर और ग्राफ़िक्स कार्ड जैसे फीचर भी शामिल रहतें है।

जहाँ तक Windows OS के लेटेस्ट वर्जन की बात करें तो इस समय Windows 10 आपको ज्यादातर लैपटॉप में मिलेगा। कुछ यूजर अभी Windows 8 और Windows 7 भी यूज़ करते है। लेकिन आपको हमारी यही सलाह है की हमेशा लेटेस्ट Windows OS वाले लैपटॉप को ही खरीदें।

2. mac OS ( मैक ऑपरेटिंग सिस्टम )

अगर आप ब्रांडेड चीजों पर फोकस करतें है या ऑनलाइन क्लास लेना होता है और सुविधा एवं फीचर्स सब एकसाथ चाहिए तब mac OS आपके लिए बेस्ट चॉइस होगा। mac OS केवल एप्पल कंपनी के लैपटॉप में ही अच्छे से काम करता है। अगर आप mac OS को Windows OSवाले लैपटॉप में ऑपरेट करने का कोशिश करते है तो उसमे काफी प्रॉब्लम्स आती है।

अगर आपके पास पहले से एप्पल कंपनी के गैजेट्स है जैसे की आई फ़ोन , एप्पल स्मार्ट वाच तो आप इन गैजेट्स को mac OS वाले लैपटॉप से कनेक्ट करके ऑपरेट कर सकते हैं।

Windows 10 OS की तरह mac OS टेबलेट मोड में काम नहीं करता है क्योंकि mac OS में टच इंटरफ़ेस नहीं होता है। एप्पल कंपनी एक बड़ा ब्रांड है जिसके लैपटॉप काफी महंगें होते है और अगर आपके पास पर्याप्त पैसा है तभी आप इसे खरीदें।

3. Chrome OS

अगर आपका बजट काफी कम है और आपकी जरूरतें भी काफी सीमीत है तब आपके लिए क्रोमबुक ठीक रहेगा। Chrome OS गूगल के द्वारा डेवलप किया गया ऑपरेटिंग सिस्टम है जो की काफी सीमीत फीचर्स के साथ आता है। ऑपरेशनल पॉइंट ऑफ़ व्यू के हिसाब से Chrome OS का इंटरफ़ेस लगभग Windows OS के इंटरफ़ेस की तरह ही होता है। Chrome OS पर ज्यादातर वेब एप्लीकेशन ऑनलाइन ही काम करता है।

अगर आप Chrome OS यूज़ करते हो तो आपको इंटरनेट से कनेक्ट रहना पड़ेगा तभी सब काम प्रॉपर्ली होगा। ये काफी सस्ता होता है और कहीं ले जाने के लिए भी आसान होता है। ये बेसिक प्रोफेशनल और पर्सनल यूज़ के लिए काफी सही रहता है।

#2. आकार और साइज (Structure and Size)

Laptop Buying Guide in hindi

लैपटॉप का साइज भी सेलेक्ट करना काफी महत्वपूर्ण होता है , वैसे लैपटॉप का साइज लैपटॉप के डिस्प्ले के साइज के आधार पर ही मापा जाता है।

Sleek and Snappy (11-12 इंच )

इस साइज का लैपटॉप स्टूडेंट्स काफी पसन्द करते है क्योंकि इनका साइज छोटा होता है और मजबूत होता है इसलिए कहीं ले जाने ले आने में काफी आसान होता है। स्टार्टअप ओनर जिनको बहुत ट्रेवलिंग करना पड़ता है वे भी इस साइज के लैपटॉप काफी पसन्द करते हैं। इस प्रकार के लैपटॉप का साइज 11 से 12 इंच तक होता है। इनका भार 1.4 किलो से 1.6 किलो तक होता है।

Suitable (13 – 15 इंच )

13 से 15 इंच की स्क्रीन के आकार वाले लैपटॉप कार्यक्षमता और पोर्टेबिलिटी के बीच सही संतुलन बनाते हैं। ये गैजेट्स बहुत ज्यादा खरीदे जाते हैं क्योंकि इनका वज़न कम औरप्रोफेशनल्स के लिए सूटेबल होता है, इस साइज के लैपटॉप में प्रेसेंटेशन्स देखना या दिखाना बेहद आसान होता है।

Sturdy and Popular (15 -16 इंच )

कुछ साल पहले तक 15 इंच साइज वाला लैपटॉप प्रोफेशनल्स के लिए सबसे बेस्ट लैपटॉप (साइज के अनुसार ) हुआ करता था। आज भी बहुत सारे सीनियर प्रोफेशनल्स 15 इंच से 16 इंच के साइज वाला लैपटॉप ही पसंद करते है। ये लैपटॉप उन प्रोफेशनल्स को कई टैब चलाने पर भी चीजों को बारीकी से देखने का विकल्प प्रदान करता है। 16 इंच की स्क्रीन वाला लैपटॉप तो बहुत कम ही मिलता है लेकिन Apple ने लेटेस्ट मैकबुक प्रो के साथ शुरुआत कर दिया है।

Massive (17 – 18 इंच )

लगभग सभी अच्छे गेमिंग लैपटॉप 17 इंच से 18 इंच स्क्रीन वाले आकार में आतें हैं। चूँकि इन लैपटॉप में काफी पावरफुल प्रोसेसिंग एवं कूलिंग फैन होता है जिससे इन लैपटॉप का वजन थोड़ा ज्यादा होता है। इन लैपटॉप का आकार और साइज बड़ा होता है और वजन भी ज्यादा होता है जिससे इन्हे कहीं ले जाने आने में काफी परेशानी होता है।

#3. कीबोर्ड , टचपैड (Keyboard, Touchpad)

Laptop Buying Guide in hindi

Keyboard

लैपटॉप सम्बन्धित ब्रांड्स के पास कस्टमर को देने के लिए बहुत प्रकार के फीचर्स हैं। तथ्य के रूप में बात करें तो , यदि आप केवल मीडिया सम्बंधित चीजों के लिए लैपटॉप पर विचार कर रहे हैं जैसे कि फिल्में या शो देखना, संगीत सुनना, या सिर्फ इंटरनेट सर्फिंग, तो एक बहुत अच्छा कीबोर्ड की आवश्यकता नहीं होता है।

हालांकि, यदि आप प्रोफेशनल्स के रूप में उपयोग होने के लिए लैपटॉप का उपयोग करते हैं, तो एक अच्छा आउटलुक के साथ एक मजबूत कीबोर्ड आवश्यक है।

Touchpad

touchpad ऐसा चाहिए जिसपे काम करके अच्छा फील हो। इस चीज को कस्टमर के रिव्यु के आधार पर आप पता कर सकते खासकर जब आप ऑनलाइन खरीदतें हैं और अगर आप शॉप पर जाकर खरीदतें हैं तब तो उसे टच करके चला करके पता कर सकतें है।

#4. स्पेसिफिकेशन्स और प्रोसेसिंग पावर (Specifications and Processing Power)

तो फाइनली हम लैपटॉप के स्पेसिफिकेशन्स और प्रोसेसिंग पावर बारे में जानेंगे। ये ऐसे फीचर्स हैं जिसपे लैपटॉप पर काम का क्वालिटी ,एंटरटेनमेंट , गेमिंग इत्यादि निर्भर करता है।

प्रोसेसर (Processor)

अगर आप लैपटॉप खरीदने से पहले लैपटॉप की प्रोसेसिंग पावर पर विचार करते हैं तो यह बहुत ही अच्छी बात है क्योंकि लैपटॉप का क्वालिटी काम उसके प्रोसेसर पर निर्भर करता है। आप अपने जरुरत के अनुसार डुअल कोर से लेकर intel 10th तक के बीच में ले सकते हैं। जैसे की

  • डुअल कोर (Dual Core )
  • इंटेल कोर i3 (Intel Core i3)
  • इंटेल कोर i5 ( Intel Core i5)
  • इंटेल कोर i7 (Intel Core i7)
  • इंटेल कोर i9 चिपसेट्स (Intel Core i9 Chipsets)
  • इंटेल 10th Gen (Intel 10th Gen)

रैम (RAM )

Laptop Buying Guide in hindi

हर प्रोसेसर को बहुत अच्छे से परफॉर्म करने के लिए रैंडम एक्सेस मेमोरी (RAM ) की आवश्यकता होती है, क्योंकि रैम लैपटॉप का बैकबोन (रीढ़ ) के रूप में काम करता है। ज्यादातर मामलों में, लोग रिटेलर से रैम (RAM) के बारे में पूछकर ही लैपटॉप खरीदतें है। अधिकांश बजट लैपटॉप 4 GB RAM के साथ आते हैं। लेकिन हम आपको सलाह देंगे आप लम्बे समय के लिए लैपटॉप ले रहें हैं तो कम से कम 8 GB RAM वाला लैपटॉप खरीदें।

अगर आपका बजट कम है और आप चाहतें है की लॉन्ग टर्म में आपका लैपटॉप अच्छा काम करे तो आप प्रोसेसर के साथ थोड़ा कोम्प्रोमाईज़ कर सकते है लेकिन RAM हमेशा ज्यादा ही लें।

16 GB RAM वाला ज्यादातर गेमिंग वाले लोग लेते है जिनको या तो हाई पावर गेम खेलना होता है या फिर एनिमेशन्स डिज़ाइन करना होता है। 32 GB RAM वाले लैपटॉप काफी महंगे होते हैं हुए इन लैपटॉप को वही लोग लेते हैं जिनको बहुत हाई लेवल पर टेक्निकल काम करना होता है। अगर आपको गेमिंग या एनीमेशन के साथ डीलिंग नहीं करना है तब आप 8 GB RAM वाला लैपटॉप ले क्योंकि बाकि सभी काम के लिए 8 GB RAM काफी है।

स्टोरेज ड्राइव (Storage Drives)

लैपटॉप खरीदते समय स्टोरेज सपोर्ट का भी ध्यान रखना चाहिए क्योंकि यह बहुत महत्वपूर्ण फैक्टर है। हालाँकि,यह आपकी प्राथमिकताओं, कार्य की प्रकृति और उसके साथ जुड़े संरचनात्मक विशेषताओं पर भी निर्भर करता है।

Laptop Buying Guide in hindi

अधिकांश कन्वेंशनल लैपटॉप में पर्याप्त स्टोरेज सपोर्ट के साथ HDD या हार्ड डिस्क ड्राइव की सुविधा होती है। आप हमेशा थोड़ा और पे कर सकते हैं और उन पर सॉलिड स्टेट ड्राइव्स (SSD ) के साथ स्लीक लैपटॉप चुन सकते हैं।

SSD बहुत अधिक स्टोरेज तो प्रोवाइड नहीं करते है लेकिन ये आपको काफी स्पीड से काम करने में मदद करते हैं। हार्ड डिस्क ड्राइव (HDD) आपको स्टोरेज तो काफी ज्यादा प्रोवाइड करवाते हैं लेकिन HDD यूज़ करने से लैपटॉप का स्पीड कम हो जाता है , इसमें एक cache memory होता है जो की सिर्फ 8 MB से 16 MB तक ही होता है। आजकल ज्यादातर लैपटॉप में 1 TB (1000 GB ) या 500 GB स्टोरेज वाला लैपटॉप काफी आसानी से मिल जाता है। कुछ महंगे लैपटॉप में 2 TB तक भी HDD मिलता है। SSD (सॉलिड स्टेट ड्राइव्स ) काफी अच्छे होतें है और ये लैपटॉप के स्पीड को कम नहीं होने देते।

डिस्प्ले क्वालिटी (Display Quality)

जैसा की हम पजल ही डिस्प्ले के साइज के बारे में आपको ऊपर बता चुके है , यहां समझने की जरूरत है की डिस्प्ले की क्वालिटी भी काफी महत्वपूर्ण होता है खासकर जब आप एंटरटेनमेंट ,गेमिंग और वीडियोस के साथ डील करते हैं तब डिस्प्ले क्वालिटी चेक करना काफी जरुरी हो जाता है

Laptop Buying Guide in hindi

अगर आप लैपटॉप खरीदने के बारे में सोच रहे है तो कम से कम फुल एचडी (Full HD ) डिस्प्ले 1920 *1080 pixels लैपटॉप लें। इससे ज्यादा pixels वाले लैपटॉप भी है लेकिन वो काफी प्रीमियम लैपटॉप होतें है जैसे की 2560 *1440 pixels या फिर 4k डिस्प्ले 3840 *2160 pixels वाले लैपटॉप लेकिन इन लैपटॉप को तभी खरीदें जब आपको जरूरत हो। अगर आप ज्यादा प्रीमियम डिस्प्ले वाला लैपटॉप लेते हैं तब आपको बैटरी बैकअप के साथ थोड़ा कोम्प्रोमाईज़ करना पड़ेगा क्योंकि ये लैपटॉप पावर बहुत ज्यादा कंज्यूम करते है।

अगर बजट कम है तो आप कम से कम 1280 *720 pixels डिस्प्ले वाला लैपटॉप जरूर लें क्योंकि लैपटॉप के बहुत सारे यूज़ होतें है और वीडियो क्वालिटी भी काफी मैटर करता है।

ग्राफ़िक्स प्रोसेसिंग यूनिट (GPU )और VRAM (Graphics Processing Unit (GPU) and VRAM)

लैपटॉप में GPU कई प्रकार के होते है जो पूरी तरह से आपकी पसंद पर निर्भर करता है, उदहारण के लिए अगर आप गेमिंग में इंटरेस्टेड नहीं है और आपको ग्राफिक्स ओरिएन्टेड टास्क करना है तब आप डेडिकेटेड ग्राफ़िक्स कार्ड से ही अपना सारा काम कर सकते है। अगर आपको कुछ और काम ग्राफ़िक्स से रिलेटेड है तो आप इंटीग्रेटेड GPU वाला लैपटॉप ले सकते हैं।

Laptop Buying Guide in hindi

अगर लैपटॉप पर गेम खेलना पसंद करते है या फिर कोई कोई ऐसा काम करते है जिसमे मॉडरेट से हाई ग्राफ़िक्स की जरूरत होती है तब आप NVidia ग्राफ़िक्स कार्ड या AMD graphics प्रोसेसर वाला लैपटॉप अफोर्डेबल दाम में ले सकते है।

अगर आपको ग्राफिक्स वाला काम ज्यादा नहीं रहता है या थोड़ा है तब आप GTX 1650  या NVidia MX250 GPU वाला लैपटॉप लीजिये।

GPU के अंदर ही एक और रैम (RAM ) आता है जिसे वीडियो रैम (VRAM ) बोलै जाता है। यह वीडियो और फोटोज की क्वालिटी को बढ़ाने में मदद करता है। VRAM बेहतर गेमिंग एक्सपीरियंस भी देता है।

पोर्ट्स ( Ports)

Laptop Buying Guide in hindi

कुछ लोग तो लैपटॉप में पोर्ट्स को देखते तक नहीं है की कितना पोर्ट्स है उसमे और उनको कितना जरुरत पड़ सकता है लेकिन लैपटॉप खरीदते वक्त पोर्ट जरूर चेक करना चाहिए। पोर्ट्स ज्यादा होने से आप उसमे एकसाथ बहुत सारे डिवाइस कनेक्ट कर सकते है जैसे हार्ड डिस्क ,पेन ड्राइव ,एक्सटरनल माउस और कीबोर्ड इत्यादि।

कनेक्टिविटी (Connectivity)

ज्यादातर मामलो में लोग लैपटॉप में इंटरनेट कनेक्ट करके ही काम करते है इसलिए लैपटॉप का कनेक्टिविटी फीचर चेक करना बेहद जरुरी होता है। आज के समय में लैपटॉप में 4G LTE कनेक्टिविटी जरूर चेक करें। Wi -Fi कनेक्टिविटी भी जरूर चेक करें। इसके साथ ही साथ ब्लूटूथ कनेक्टिविटी भी जाँच ले क्योंकि कभी कभी ब्लूटूथ कनेक्टिविटी की भी जरुरत पड़ जाती है।

Laptop Buying Guide in hindi

#5. बैटरी लाइफ और बैटरी बैकअप का आकलन (Assessing the Battery Life and backup )

किसी भी मशीन को चलने के लिए पावर की आवश्यकता होती है उसके लिए या तो आप सीधे इलेक्ट्रिसिटी से कनेक्ट करते है या फिर मशीन में लगी बैटरी से पावर मिलता है इसलिए लैपटॉप का बैटरी लाइफ और बैटरी बैकअप बहुत ही अच्छा होना चाहिए क्योंकि लैपटॉप ऐसा डिवाइस होता है जिसको आप कहीं भी ले जा सकते हैं और शायद हर जगह आपको बिजली नहीं मिल सकती या फिर जब आप यात्रा कर रहें हो उस वक्त आपको कोई काम पड़ जाये तब भी शायद बिजली नहीं मिलेगी इसलिए बैटरी लाइफ का अच्छा होना बेहद आवश्यक है। बहुत सारे ऐसे होते है जिनको कई कई घंटे लगातार लैपटॉप से काम करना रहता है इसलिए बैटरी बैकअप का अच्छा होना जरुरी है।

आप ऐसा लैपटॉप को पसंद करें जिसका बैटरी बैकअप कम से कम 5 घंटे से 6 घंटे तक हो। इसलिए आप कोई भी लैपटॉप खरीदने से पहले उसके बैटरी बैकअप का ऑनलाइन रिव्यु जरूर चेक करें।

#6.बजट (Budget)

कोई भी लैपटॉप लेने से पहले आप अपनी जरूरतें फिक्स करें उसके आधार पर ही बजट सेट करें। अगर आपको गेमिंग करना है या फिर हाई ग्राफ़िक्स से रेलेटेड काम करना है तब यदि आप काम बजट का लैपटॉप लेते है तो बाद में आपको पछताना पड़ेगा। लैपटॉप में जरुरत के हिसाब से फीचर्स दिए जातें है और फिर उसका प्राइस सेट किया जाता है इसलिए खरीदने वाले को पहले अपना जरुरत जानना चाहिए उसके बाद बजट सेट करना चाहिए।

#7. अन्य फीचर्स (Additional Features)

वैसे तो लैपटॉप के जितने भी मुख्य फीचर्स है जिनको ऊपर बता दिया गया है लेकिन कुछ और भी फीचर्स हैं जिनको लैपटॉप खरीदने से पहले चेक करना चाहिए –

  • Audio Output : लैपटॉप का ऑडियो क्वालिटी चेक कर ले क्युओंकी आप कितना भी काम करतें हो लेकिन आप एंटरटेनमेंट लैपटॉप जरूर यूज़ करेंगे।
  • Backlit Keyboard Support: इस चीज को मैक्सिमम लोग ध्यान नहीं देतें है लेकिन ये अँधेरे में टाइप करने में काफी मदद करता है लैपटॉप के लुक्स को भी बढ़ाता है।
  • Fingerprint Sensor: कुछ ऐसे लैपटॉप हैं जिनमें टचपैड के साथ फिंगरप्रिंट रीडर एम्बेडेड होता है। फिंगरप्रिंट सेंसर लैपटॉप में होना अच्छा होता है।
  • Fast Charging: स्मार्टफोन की तरह लैपटॉप को भी इलेक्ट्रिसिटी के बिना उसके बैटरी के पावर पर काम करने की आवश्यकता होती है। इसलिए जल्दी से चार्ज होने वाला लैपटॉप लेना चाहिए।
  • Webcams : यदि आप रेगुलरली Skype कॉलिंग करते हैं में हैं या वीडियो कालिंग करना चाहते है तो खरीदारी करने से पहले वेबकैम पर विचार करना आवश्यक हो जाता है। अधिकांश लैपटॉप ब्रांड अपना स्वयं का वेबकैम इंटरफ़ेस पेश करते हैं जो उपयोगकर्ताओं को वीडियो रिकॉर्ड करने और स्नैपशॉट क्लिक करने की अनुमति देते है।
  • Internal Microphone : जिन लोगों को लैपटॉप से ऑनलाइन कालिंग , वीडियो कालिंग , skype पे बात करना रहता है और चाहते है की अलग से कोई माइक्रोफोन न लगाना पड़े तब यह फीचर जरूर चेक कर लेना चाहिए। अगर आप ऑनलाइन लैपटॉप खरीद रहे है तो ऑनलाइन यूजर रिव्यु देख के ये चीज पता कर सकते हैं।

#8. ब्रांड की पहचान( Brand Identity)

हर इंसान को अलग अलग ब्रांड पसंद होता है लेकिन फिर भी कोनसा ब्रांड लोगों के द्वारा कितना पसंद किया जाता है उसका एक ओवरव्यू निचे दिए फोटो में देख सकतें है –

Laptop Buying Guide in hindi

ये डाटा यूजर्स द्वारा दिए गए रिव्यु के आधार पर ,लैपटॉप के डिज़ाइन के आधार पर ,उसकी सपोर्ट और वारंटी के आधार पर ,नयी तकनीक के आधार पर और ब्रांड के वैल्यू सेलेक्शन के आधार पर बना है।

#9 . रंग और बनावट (Color and Texture)

ये चीज टोटली यूजर पर निर्भर करता है की उसे कौन सा रंग पसंद आता है, लैपटॉप का बनावट या डिज़ाइन आप पर निर्भर करता है की आपको कैसा डिज़ाइन और कौन सा कलर पसंद आता है।

हमारे अनुसार इतना जानने के बाद आप खुद के लिए या किसी और के लिए एक अच्छा लैपटॉप खरीदने में सक्षम हो गए है और आप अच्छा लैपटॉप खरीद सकते हैं।

धन्यवाद।